मस्तमंडल व गंगाशहर तेरापंथ महिला मंडल का रजाई व कम्बल का वितरण कार्यक्रम


जरूरतमंदों को मिले सेवा का लाभ : एसपी प्रदीपमोहन शर्मा



 



बीकानेर। तेरापंथ महिला मंडल गंगाशहर व मस्त मंडल सेवा संस्थान द्वारा पुलिस प्रशासन की प्रेरणा से जरूरतमंदों के लिए रजाई व कम्बल का वितरण किया गया। मस्त मंडल सेवा संस्था के अध्यक्ष विजय मालू ने बताया कि सोमवार सायं कोटगेट थाना परिसर में जिला पुलिस अधीक्षक को २00 रजाई व 300 कम्बल सौंपे गए। एडिशनल एसपी पवन मीणा, सीओ सिटी सुभाष शर्मा, सीओ सदर पवन भदौरिया एवं थानाप्रभारी धरम पूनिया सहित सभी थानाधिकारी उपस्थित रहे। इस अवसर पर जिला पुलिस अधीक्षक प्रदीपमोहन शर्मा ने कहा कि सामाजिक संस्थाओं द्वारा दी गई यह सेवा सही मायने में जरूरतमंदों के लिए श्रेष्ठ साबित होगी। एसपी शर्मा ने कहा कि पात्र व्यक्ति को ही दान मिले तो उस दान का महत्व होता है। तेरापंथ महिला मंडल गंगाशहर की परामर्शक शारदा डागा ने बताया कि आचार्यश्री महाप्रज्ञ जन्म शताब्दी ज्ञान चेतना वर्ष पर सेवा कार्यों की शृंखला में पुलिस प्रशासन के माध्यम से निराश्रित व असहाय लोगों को वितरित किए जाएंगे। कार्यक्रम में महिला मंडल अध्यक्ष ममता रांका, संतोष बोथरा, कविता चौपड़ा, संजू ललवाणी, बिन्दू छाजेड़, जयश्री भूरा, जयश्री बोथरा, सुनीता डोसी, सरोज देवी सामसुखा आदि उपस्थित रहीं। राजेन्द्र शर्मा ने बताया कि लूणकरण सामसुखा, हनुमान रांका, पूनमचन्द चौरडिय़ा, अरिहन्त नाहटा, कमल बोथरा, किशोर भंसाली, राजेश बोथरा, रमेश भाटी, शंभु़ गहलोत, जितेन्द्र राजवी, पवन सुथार, गौरीशंकर देवड़ा, राजेन्द्र व्यास, कुलदीप यादव, मनोज पडि़हार, विक्रम पारीक, विक्की गहलोत, संजू स्वामी, नरेन्द्र भादाणी, राजेश स्वामी आदि उपस्थित रहे।


Popular posts
जिन शासन स्थापना दिवस 4 मई को, 'एक सामायिक शासन के नाम' विषयक कार्यक्रम होगा
Image
श्री महाकालेश्‍वर मंदिर के प्रशासनिक कार्यालय एवं वैदिक शोध संस्‍थान में हुआ झंडारोहण
Image
तेरापंथ महिला मंडल गंगाशहर के 'हमारा समाज, हमारा दायित्व' कार्यक्रम में रंगोली व संगोष्ठी से दिया जागरुकता का संदेश
Image
लोकसंत युगप्रभावकाचार्य श्रीमद् विजय जयन्तसेन सूरीश्वर जी म.सा.'मधुकर' की तृतीय वार्षिक पुण्यतिथि विशेष..
Image
एसडीएम को जिम्मेदार ठहराने के बजाए मजदूरों को गंतव्य तक पहुंचाया जाए, जब इतनी सहानुभूति है तो फिर मजदूर परिवार सहित सड़क पर पैदल क्यों चल रहा है?