जयपुर रत्न सम्मान समारोह सीजन-तीन में एमएफए डॉ पवन पारीक का गवर्निंग बोर्ड में निदेशक पद पर चयन


जयपुर। शक्ति फ़िल्म प्रोडक्शन की तरफ से जून माह में आयोजित "जयपुर रत्न सम्मान" की 7 जनों की गवर्निंग बोर्ड कमेटी में एमएफए डॉ पवनकुमार पारीक के चयन किया गया है। शो आर्गेनाइजर और समाजसेविका अम्बालिका शास्त्री ने बताया कि डॉ पारीक वर्षो से सांस्कृतिक, सामाजिक, शैक्षणिक व विविध क्षेत्रों की प्रतिभाओं को तराशने एवं सामाजिक कार्य कर रहे है। डॉ पारीक के संस्थागत दक्षता से इस आयोजन का उद्देश्य सार्थक होगा। एमएफए डॉ पवनकुमार पारीक ने भी कहा कि ज़माने की भीड़ से अलग चंद लोग ऐसे भी होते हैं जिन्होंने खामोशी से संघर्ष करते हुए सफलता का सफर तय किया और अपने-अपने क्षेत्र में विशिष्ट पहचान कायम की। शक्ति फ़िल्म प्रोडक्शन, ऐसी ही शख्सियतों को सलाम करते हुए उन्हें "जयपुर रत्न सम्मान" से सम्मानित करने का दो बार विशाल आयोजन करवा चुका है। ये तीसरा आयोजन होगा।शो आर्गेनाइजर और समाजसेविका अम्बालिका शास्त्री ने बताया कि समारोह में सम्मान के साथ-साथ सांस्कृतिक कार्यक्रम, आर्थिक रूप से कमजोर लेकिन बाल प्रतिभाएं द्वारा तैयार किये गए आइटम्स की प्रदर्शनी, खादी थीम बेस्ड फैशन शो आदि भी कार्यक्रम के मुख्य आकर्षण होंगें।
 अम्बालिका शास्त्री के मुताबिक अनाथ व असहाय बच्चों की सेवा सबसे बड़ी समाज सेवा है। इसी बात को ध्यान में रखते हुए दिमागी तौर पर कमज़ोर बच्चों को किताबों और बैग्स का भी वितरण किया जाएगा तथा अनाथ लोगों के लिए चैरिटी स्वरूप राशि भिजवाई जाएगी। रिंकुसिंह गुर्जर ने कहा कि ईमेल jaipurratan2020@gmail.com पर अभी तक 167 प्रतिभाओं ने रजिस्ट्रेशन करवा दिया है, रजिस्ट्रेशन निशुल्क है। 20 मई तक ये आवेदन स्वीकार किये जाएंगे।



Popular posts
जिन शासन स्थापना दिवस 4 मई को, 'एक सामायिक शासन के नाम' विषयक कार्यक्रम होगा
Image
श्री महाकालेश्‍वर मंदिर के प्रशासनिक कार्यालय एवं वैदिक शोध संस्‍थान में हुआ झंडारोहण
Image
तेरापंथ महिला मंडल गंगाशहर के 'हमारा समाज, हमारा दायित्व' कार्यक्रम में रंगोली व संगोष्ठी से दिया जागरुकता का संदेश
Image
लोकसंत युगप्रभावकाचार्य श्रीमद् विजय जयन्तसेन सूरीश्वर जी म.सा.'मधुकर' की तृतीय वार्षिक पुण्यतिथि विशेष..
Image
एसडीएम को जिम्मेदार ठहराने के बजाए मजदूरों को गंतव्य तक पहुंचाया जाए, जब इतनी सहानुभूति है तो फिर मजदूर परिवार सहित सड़क पर पैदल क्यों चल रहा है?