कोरोना ; फिर दुनिया में बजा भारत का डंका, खोजा कोरोना का इलाज ! वायरल हो रही खबर..


न्यूज डेस्क। जी हां, वैश्विक महामारी को काबू करने की सुखद खबर वायरल हो रही है। यह यदि सच हुई तो एक बार फिर भारत पूरी दुनिया को अपना दम दिखाने में कामयाब होगा। जब चीन और अमेरिका समेत पूरी दुनिया कोरोना वायरस से लड़ने में नाकाम साबित हो रहे हैं, देश ने इसका टीका तैयार कर लिया है। टीका के सभी शोध लगभग पूरे होने वाले हैं। जल्द ये टीका भारत समेत पूरी दुनिया में लोगों की जान बचाने में मददगार साबित होगा। टीका बनाने वाली कंपनी भारत बायोटेक ने कोरोना वायरस से लड़ने वाला टीका खोज लिया है। कंपनी के चेयरमैन डॉ.कृष्णा ऐल्ला का कहना है कि देश कोरोना वायरस से लड़ने के लिए अपना टीका तैयार कर लिया है। ये देश का पहला टीका है जो कोरोना वायरस संक्रमण से बचाने में पूरी तरह से सफल है। इस टीके का नाम कोरो-वैक रखा गया है। वायरस से बचाने के लिए इस नाक में डाला जाएगा। दवा इतनी प्रभावी है कि सामान्य फ्लू होने पर भी इसका इस्तेमाल हो सकता है। डॉ.एल्ला ने कहा कि कंपनी ने इस टीके के क्लिनिकल ट्रायल को सीधे अमेरिका में करना शुरू किया है। अमेरिका में जानवर और इंसानों के ट्रायल एक साथ होते हैं। इसकी वजह से टीके की सुरक्षा मानकों की मंजूरी लेने में ज्यादा वक्त नहीं लगता। एक बार अमेरिका में सुरक्षा मानकों पर मंजूरी मिलने के बाद इस टीके को लॉन्च कर दिया जाएगा।बताते चलें कि दुनिया के कई बड़ी महामारी बीमारियों के लिए हमारे देश की ये कंपनी अव्वल रही है। जब दुनिया में जिका वायरस का संक्रमण फैला तो भारत बायोटेक ने ही दुनिया को इस बीमारी से बचाने का पहला टीका उपलब्ध कराया था। इसी तरह इंफ्लुएंजा संक्रमण का भी सबसे जल्दी टीका इस कंपनी ने तैयार किया था।


Popular posts
जिन शासन स्थापना दिवस 4 मई को, 'एक सामायिक शासन के नाम' विषयक कार्यक्रम होगा
Image
श्री महाकालेश्‍वर मंदिर के प्रशासनिक कार्यालय एवं वैदिक शोध संस्‍थान में हुआ झंडारोहण
Image
तेरापंथ महिला मंडल गंगाशहर के 'हमारा समाज, हमारा दायित्व' कार्यक्रम में रंगोली व संगोष्ठी से दिया जागरुकता का संदेश
Image
लोकसंत युगप्रभावकाचार्य श्रीमद् विजय जयन्तसेन सूरीश्वर जी म.सा.'मधुकर' की तृतीय वार्षिक पुण्यतिथि विशेष..
Image
एसडीएम को जिम्मेदार ठहराने के बजाए मजदूरों को गंतव्य तक पहुंचाया जाए, जब इतनी सहानुभूति है तो फिर मजदूर परिवार सहित सड़क पर पैदल क्यों चल रहा है?