"लॉकडाउन के प्रथम चरण में कोरोना हुआ परास्त" , एक भी संक्रमित व्यक्ति नहीं मिला, कमिश्नर डॉ. भार्गव ने सभी कोरोना योद्धाओं का जताया आभार


न्यूज डेस्क। वैश्विक महामारी कोरोना से जंग में जो कोरोना योद्धा अपनी अमूल्य सेवाएं दे रहे हैं, वाकई इससे अनेक संभागों से राहत की खबरें भी मिल रही है। फिलहाल बात करें, मध्यप्रदेश के रीवा व शहडोल संभाग से है। जी हां, 
रीवा तथा शहडोल संभाग के कमिश्नर डॉ. अशोक कुमार भार्गव ने लॉकडाउन के प्रथम चरण में सफल होने पर सभी कलेक्टर, एसपी, जिला पंचायत सीईओ, कमिश्नर नगर निगम, सीमएएचओ, सिविल सर्जन, सभी डॉक्टर्स, स्वास्थ्य कर्मी, पैरामेडिकल स्टाफ, आशा कार्यकर्ता, आंगनवाड़ी कार्यकर्ता, पुलिस, प्रशासन, जनप्रतिनिधियों, आमजनता, सभी समाज सेवियों, स्वयं सेवी संगठनों, धर्मगुरूओं, जनसम्पर्क विभाग, पिं्रट और इलेक्ट्रॉनिक मीडिया तथा कोरोना योद्धाओं के प्रति कोटिश: आभार व्यक्त किया है। उन्होंने कहा कि मध्यप्रदेश में रीवा एवं शहडोल संभाग कोरोना की जंग में कामयाब और सफल हुए हैं। दोनों संभागों में एक भी कोरोना संक्रमित व्यक्ति नहीं मिला है। यह सब कोरोना योद्धाओं और कर्मवीरों के साथ टीम भावना के साथ काम करने, आमजनता, जनप्रतिनिधियों, अधिकारियों, पुलिसकर्मियों, सफाई कामगारों, नगरीय निकाय और पंचायतों के अधिकारियों के धैर्य, संकल्प, साहस और अनुशासन से ही संभव हो सका है। उल्लेखनीय है कि कमिश्नर डॉ.भार्गव के सफल नेतृत्व, सतर्कता, जागरूकता, कुशल मार्गदर्शन, सतत समीक्षा और मैदानी स्तर पर आकस्मिक निरीक्षण, भ्रमण से रीवा एवं शहडोल संभाग के अंतर्गत आने वाले सातों जिलों की पूरी प्रशासनिक टीम कलेक्टर, एसपी, सभी डाक्टर्स, कोरोना योद्धाओं, जनप्रतिनिधियों, स्वास्थ्य कर्मियों, पुलिस और वहां के रहवासियों ने लॉकडाउन का सख्ती से पालन कर कोरोना को हराया है। कमिश्नर डॉ. भार्गव ने कहा कि आमजनता की तपस्या तथा अधिकारियों के परिश्रम से कोरोना के जंग के प्रथम चरण में विजय मिली है। यह दोनों संभाग के जनमानस की जीत है। कमिश्नर डॉ. भार्गव ने कहा कि प्रदेश के 10 संभागों में से आठ संभागों के किसी न किसी जिले में कोरोना वायरस का प्रकोप हुआ है। लेकिन रीवा तथा शहडोल संभाग के किसी भी जिले (रीवा, सीधी, सतना, सिंगरौली, शहडोल, उमरिया और अनूपपुर) में अब तक कोरोना से एक भी व्यक्ति संक्रमित नहीं पाया गया है। आमजनता द्वारा लॉकडाउन के प्रतिबंधों तथा अन्य सुरक्षात्मक उपायों का पालन करने से यह कठिन कार्य संभव हो पाया है। कोरोना सरीखी घातक महामारी से युद्ध का प्रथम चरण 14 अप्रैल को पूरा हुआ। इस चरण में कोरोना के संक्रमण को पूरी तरह से रोकने में रीवा तथा शहडोल संभाग सफल रहे हैं। उन्होंने कहा है कि 22 मार्च से लागू धारा 144 (1) के प्रतिबंधों तथा 25 मार्च से लागू टोटल लॉकडाउन के कठोर प्रतिबंधों में आमजनता ने सुरक्षित सामाजिक दूरी तथा अन्य प्रावधानों का पालन कर पूरा सहयोग किया। बकौल डॉ भार्गव "मुझे विश्वास है कि शासन द्वारा तीन मई तक दिये गये लॉकडाउन के निर्देशों का दोनों संभागों के आमजन संयम, साहस, संकल्प तथा धैर्य के साथ पालन करेंगे।" लॉकडाउन की अवधि में शासन के निर्देशों के अनुरूप अति आवश्यक सेवाएं बहाल रखने तथा आवश्यक वस्तुओं की आपूर्ति के पूरे प्रयास किये जा रहे हैं। कमिश्नर डॉ. भार्गव ने आमजनता एवं अन्य संबंधितों से द्वितीय चरण में आगामी 3 मई तक लॉकडाउन का पालन करते हुए प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी द्वारा कही गई 7 बातों का पालन करने की अपील की है। उन्होंने कहा है कि कोरोना से बचाव के लिए अपने घर के बुजुर्गों का विशेष ध्यान रखें। विशेषकर ऐसे व्यक्ति जिन्हें पुरानी बीमारी हो। हमें उनकी देखभाल करनी है। लॉकडाउन और सुरक्षित सामाजिक दूरी की लक्ष्मण रेखा का पूरी तरह पालन करें। घर में बने फेसकवर या मास्क का अनिवार्य रूप से उपयोग करें। अपनी इम्युनिटी बढ़ाने के लिए आयुष मंत्रालय द्वारा दिये गये निर्देशों का पालन करें। गर्म पानी, काढ़ा इनका निरंतर सेवन करें। कोरोना संक्रमण का फैलाव रोकने में मदद करने के लिए आरोग्य सेतु मोबाइल एप जरूर डाउनलोड करें। दूसरों को भी इसको डाउनलोड करने के लिए प्रेरित करें। जितना हो सके उतने गरीब परिवार की देख-रेख करें। उनके भोजन की आवश्यकता पूरी करें। आप अपने व्यवसाय, अपने उद्योग में अपने साथ काम कर रहे लोगों के प्रति संवेदना रखें। किसी को नौकरी से न निकालें। कोरोना योद्धाओं, डॉक्टर, नर्सेस, सफाईकर्मी, पुलिसकर्मी का पूरा सम्मान करें। कमिश्नर डॉ. भार्गव ने कहा है कि हमें कोरोना वायरस से डरना नहीं लड़ना होगा। इस वायरस को हराना होगा। वायरस को लेकर हम डरें नहीं, भयभीत न हों, दहशत में न रहें वरन संकल्प एवं साहस के साथ इसका सामना करें। अफवाहों और सोशल मीडिया पर फैलाई जा रही फर्जी जानकारियों के प्रभाव से पूरी तरह से सावधान रहें। हमारा मोटो हमारा मिशन कोरोना को हराना है और इंसानियत को जिताना है।


Popular posts
विफा के महामंत्री डॉ पारीक द्वारा लुधियाना में पुलिस अधीक्षक आईपीएस दीपक का सम्मान
Image
पाली के एएसपी रामेश्वर लाल मेघवाल के दूध वाले को रोकने पर कांस्टेबल संदीप लाइन हाजिर, मेघवाल का अश्लील गालियों से भरा ऑडियो वायरल! तो फिर कोरोना योद्धा कैसे देंगे ड्यूटी?
पुजारी व वैदिक कर्मकांडी पंडितो को विशेष सहायता हेतु चयन पर राज्य सरकार का आभार
Image
कोरोना ; होटल उद्योग संस्थान द्वारा गाड़ी रवाना, सलीम सोढा व गोपाल अग्रवाल की मौजूदगी
Image
केंद्रीय मंत्री मेघवाल के आग्रह पर जरूरतमंतो की मदद के लिए आगे आए कार्पोरेट, 5000 सूखे खाद्य सामग्री पैकेट जरूरत मंदो हेतु भेजे.
Image